“Insecure Dictator”: Rahul Gandhi Slams PM Modi Over “Snooping” Order

RAHUL GANDHI, PM MODI, AMIT SHAH, BJP, ONGRESS,ELECTION, POLITICAL NEWS

RAHUL GANDHI CALLS PM MODI 'INSECURE DICTATOR;

  • राहुल ने प्रधान मंत्री मोदी को कहा ‘असुरक्षित तानशाह’
  • भाजपा अध्य्क्ष, अमित शाह ने किया पलटवार
  • कांग्रेस को ‘आपातकाल’ का समय याद दिलाया

कांग्रेस अध्यक्ष, राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए उन्हें एक ‘असुरक्षित तानाशाह’ कह कर बुलाया, गृह मंत्रालय के उन आदेशों पर जो कंप्यूटर पर डाटा की निगरानी के लिए जांच एजेंसियों को व्यापक शक्तियां प्राण करता है.

राहुल गाँधी ने कहा की प्रधान मंत्री मोदी भारत को एक ‘police state’ में बदल देना चाहते हैं. सरकार को यह प्रतिक्रिया के लिए विपक्षी दलों द्वारा प्रतिबद्ध किया गया था. यह आदेश, लगभग दस केंद्रीय एजेंसियों को किसी भी कंप्यूटर में उत्पन्न, प्रेषित, प्राप्त या संगृहीत किसी भी जानकारी को अवरुद्ध करने, निगरानी करने एवं डिक्रिप्ट करने की अनुमति देता है.

इस आदेश पर हस्ताक्षर, गृह सचिव राजीव गौबा ने किये थे.

राहुल गाँधी के स बयान पर भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष, अमित शान ने इस पर पलटवार करते हुए कहा की

यह आदेश इंटेलिजेन्स ब्यूरो, नारकोटिक करोल ब्यूरो, एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट, सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डायरेक्ट टैक्सेज, डायरेक्टरेट ऑफ़ रेवेनुए इंटेलिजेंस, CBI, नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी, कैबिनेट सक्रिटारीअत, डायरेक्टरेट ऑफ़ सिग्नल इंटेलिजेंस (जम्मू एवं कश्मीर, उत्तर-पूर्वी एवं असम), और दिल्ली पुलिस कमिश्नर क कई शक्तियों से सशक्त है.subscriber, service प्रोवाइडर और किसी भी व्यक्ति को शकतोयों एवं तकनिकी विस्तार के लिए बाध्य करता है, यदि वे डाटा मांगते हैं तो. यदि नहीं, तो उसे 7 साल की जेल अथवा जुरमाना भरना पड़ सकता है.

देश की राज्य सभ में कांग्रेस पार्टी ने यह सवाल उठे और कहा की सरकार संपूर्ण देश को एक सिमटे हुए निगरानी जैसे राज्य में परिवर्तित करना चाहता है.

वित्तीय मंत्री, अरुण जैटली ने कहा की विपक्षी दाल कांग्रेस देश की सुरक्षा का खेल बना रही है और साथ में उन्होंने यह नहीं ताड़ दिलाया क, यह आदेश एक दशक पहले UPA सरकार के द्वारा ज़ारी आदेश का दोहराव मात्र है.

इसी तरह के नए नए राजनैतिक राष्ट्र्य एवं अंतराष्ट्रीय ख़बरों क लिए हमारे साथ जुड़े रहे

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *