LOK SABHA PASSES TRIPLE TALAQ BILL

triple talaq, bjp, congress, owaisi

lok sabha passes triple talaq bill

लोक सभा ने पारित किया बिल

  • देश की लोक सभा ने पास किया ट्रिपल तलाक़ का बिल
  • ट्रिपल तलाक़ को बनता है अपराधी
  • लोक सभा में 4 घंटे तक चली बहस

लोक सभा ने गुरूवार को, संशोधित मुस्लिम महिला विधेयक (विवाह पर अधिकारों का संरक्षण) 2018, को पारित कर दिया। प्रस्तावित विधेयक ट्रिपल तलाक़ को अपराधी बनता है। लोक सभा में यह मुद्दा पुरे चार घंटो तक चलता
रहा।

जैसा की सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 2017 में कहा था की, मुस्लिम पुरुषों द्वारा उनकी पत्नियों को दिया जाने वाला ट्रिपल तलाक़, मनमाना एवं असंवैधानिक है।

विपक्षी दलों ने किया विरोध

triple talaq, bjp, congress, owaisi

कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी दलों ने इसका विरोध करते हुए ट्रिपल तलाक़ के अपराधीकरण के खिलाफ है। उनके मुताबिक, यह केवल इस्लाम धर्म पर लागु नहीं होता, और किसी अन्य धर्म पर नहीं।

कांग्रेस दाल से सुष्मिता डे ने कहा की, “हम सहमत हैं की यह विधेयक महिलाओं के लिए है, परन्तु हम इस बात पर अपनी आपत्ति जताते हैं, हम तत्क्षण ट्रिपल तलाक़ को एक आपराधिक कित्या बनाने में असहमत हैं। “भारतीय जनता पार्टी पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा की “इस सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसलों का कई बार दुरूपयोग करने की है।”

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन पार्टी के अध्यक्ष, असदुद्दीन ओवैसी ने जताये अपने विचार

इस विधेयक के अनुसार, ट्रिपल तलाक़ करने वाले पति को 3 साल की जेल की सजा का पक्ष लेता है। बीती जनवरी में राज्य सभा में इस विधेयक का पहला ड्राफ्ट तैयार होने के बाद इसका संशोधित ड्राफ्ट बनाया गया। संशोधन के अधिकतर सुझाव, विपक्षी दलों द्वारा सझाये गया।

इस विधेयक की महत्ता को समझते हुए, कांग्रेस और भाजपा दोनों ने ही, अपने- अपने सदस्यों को सचेतक पत्र जारी किया ताकि वे अपनी उपस्थिति दें।

विपक्षी दलों ने जहाँ, इस विधेयक के लिए एक अलग जॉइंट सेलेक्ट कमेटी की मांग की वही केंद्रीय कानून मंत्री, रवि शंकर प्रसाद ने इसे, न्याय एवं मानवता का एक बिल बताया। ” साथ भी कहा की, “यह आवयशक है की संसद एक स्वर में बात करे और इसे एक धार्मिक मुद्दा ना बनाये। “

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *